नमस्कार दोस्तों आजके इस पोस्ट में हम आपको Cloud Computing क्या होती है। Cloud Computing के क्या क्या फायदे होते है। और cloud Computing models क्या होते है। इसके बारे में details में जानकारी देंगे। दोस्तों आजके इस पोस्ट में आपको बहुतसारी उपयोगी और ज्ञानवर्धक जानकारिया मिलेगी जिससे आपकी knowledge ही नहीं बल्कि आपका iq भी बढ़ेगा इसलिए इस Article को लास्ट तक ध्यान से जरूर पढ़े।

पिछले कुछ वर्षो से दिनियाभर में Internet और Technology की Flid में काफी तरक्की की है और जैसे जैसे Research होती गई वैसे वैसे नई नई Technology का विकास और आविष्कार होता गया लेकिन पिछले 2-4 सालो में distribute Computing और Cloud Computing में गहन Research होती रही है। 


आजके इस Article में  आपको cloud computing के बारे में बतायेगे लेकिन उससे पहले अगर आप Distribute Computing के बारे में जान ले तो आपको Cloud Computing को जानने में और आसानी होगी। तो चलिए अब हम Distribute Computing के बारे में जानकारी ले लेते है। 

Distributed Computing क्या होती है ( what is Distributed Computing ) :-

Distributed Computing में बहुतसारे Autonomous (स्वतंत्र ) Computer कंप्यूटर को एक साथ जोड़कर एक Computer बनाया जाता है ऐसे कंप्यूटर को Distributed Computer कहते है। इन Computer को एक जगह पर जोड़कर एक बनाया जाये तो इसको LAN Distributed System कहाँ जाता है। और अगर ये सभी Computer अलग अलग जगह पर हो फिर इनको एकसाथ Connect किया जाये और उसका एक Computer बनाया जाये तो इसको WLAN Distributed Computing System कहते है। 

तो दोस्तों अब आप Distributed Computing क्या है इसके बारे में जान गये होंगे अब हम जान लेते है की Cloud Computing क्या है।

Cloud Computing क्या होती है ( what is cloud Computing ) :-

Cloud-Computing-kya-hai

दोस्तों Cloud Computing केवल डाटा Store करने का माध्यम ही नहीं है बल्कि Cloud Computing से हम बहुत सारे ऐसे High end काम कर सकते है जो हम हमारे घर के Normal Computer से नहीं कर सकते। Guys जैसा की आपको Cloud Computing के नाम से ऐसा लग रहा होगा की बदलो में कोई ऐसा Drive है या कोई ऐसा storage System है जो Data को Store करता है। 

तो आप ये बिलकुल ही गलत सोच रहे है Actual में Cloud Computing का मतलब बादलो में कोई data Store करने का System या Storage नहीं है इसका real में मतलब  है की Data को Store और provide करवाने का माध्यम। जैसे की आपको में एक Example के माध्यम से बताता हूँ। 


मान लो की आप एक Company में काम करते है और आज Sunday है और आपके बॉस ने आपको अपने company में काम करने वाले सभी Employ की List बनाने को कहाँ है जिसमे आपको Employ की age उसकी Education salary,और वो इस Company में कितने सालो से काम कर रहा है उसके बारे में एक Excel Sheet बनाने को कहाँ है। अब आप क्या करेंगे अब तो आपको  Monday के दिन ही Office जाकर  और office के Computer से Employ की Detail निकल कर ही file बनानी होगी।  




इसी तरह की समस्या को हल करने के लिए Cloud computing का निर्माण किया गया जिसमे अपने office अपने जरुरी document file जैसा कोई भी डाटा Online Cloud Computing में Securely Save कर देंगे और उसके बाद आप चाहे दुनिया के जिस भी कोने में हो आप के पास चाहे Mobile हो या PC या Laptop कोई भी System हो आप अपने Save किये गए डाटा को Internet से आसानी से Access कर सकते है चाहे Sunday हो या Monday अब अगर आपका बॉस Sunday के दिन भी office का कोई काम करने को बोलेगा तो आप बड़े ही आसानी से उस काम को कर सकते हो।

Cloud Computing के कुछ उदारहण ( example of cloud Computing ) :-

example-of-cloud-Computing

दोस्तों ऊपर के Article में हमने Cloud Computing क्या होती है इसके बारे में जाना था और अब हम जानेगे Cloud Computing के कुछ उदारहण। 

1 . Youtoube 

दोस्तों आज के time में Youtoube को कोन नहीं जनता ये आज के Time का One Of the Best business और one Of The Best Video Plate Form है। पुरे World का आज अगर आपको कोई भी Video देखना है तो सबसे पहले Youtoube का नाम आता है। 

अगर आपको कोई भी काम सीखना है तो आप youtoube में देखकर सीख सकते है। लेकिन दोस्तों क्या आपको पता है की आप जो youtoube में Video डालते है या देखते है वो सभी किस वजह से कर पा रहे है। 


तो guys आज youtoube पर आप जो भी video देख रहे है या इस Plat from में Video upload करके पैसे कमा रहे है ये सारा Cloud Computing Technology की वजह से आप कर रहे है क्योकि अगर आप जो video देखते है वो अगर कोई computer में Store होता तो Youtoube कब ही डूब जाता क्योकि आज पूरी दिनिया में हर दिन 1000 साल का Video upload होता है जिसको अगर mb या gb में Convert करके देखा जाये तो वो एक दिन में इतनी Gb में होगा की गिनना मुश्किल हो जायेगा। 

2. facebook 

दोस्तों अगर Cloud Computing का दूसरा सबसे बड़ा उदहारण जाने तो वो Facebook के आलावा और कोई नहीं हो सकता क्योकि Youtoube के बाद Facebook एक ऐसा Social Media Platform है जहाँ पर आप अपने Friends को Massage भेजने के आलावा youtoube की तरह Video Upload करके पैसे कमा सक्ते हो क्योकि Facebook ने हाल ही में अपना Monetization System Update किया है। 

इसलिए अगर आप Cloud Computing का दूसरा उदहारण की बात करे तो Facebook से अच्छा कोई और example नहीं हो सकता है। 

3.google drive और dropbox

दोस्तों ऊपर के दो Example में हमने Cloud Computing को use करके उसमे video photos upload करने वाले 2 उदहारण के बारे में जाना था अब में आपको Google Drive और Drop box के बारे में बताउगा जिसमे आप कोई भी file upload कर सकते है और उसको Internet के जरिये दुनिया के किसी भी कोने से Access कर सकते है बिना कोई  problem के Guys ये दो सबसे बड़े Online Data Store Drive है।  

जिसे सायद आप पहले से ही जानते होंगे। दोस्तों इनमे आपको 15 GB तक free Data store करने का Space मिलता है और उसके बाद आपको अपने जरुरत के अनुसार अगर data को बढ़ाना है तो आपको Monthly कुछ subscription pay करना होगा और उसके बाद आप अपने Data को Gb से लेकर Tb तक आराम से Store करवा सकते है। 

3. picasa ya pexel 

दोस्तों Pexel और Picasa Free और Paid online Photo ,Images Download Website है। जहाँ पर आपकी जरुरत की सारी photos और Images आपको मिलेगी और अगर आप यहाँ पर अपनी Images Upload करते है और आपकी Images लोग यहाँ पर पसंद करते है तो Download के अनुसार आपको ये Online Company कुछ पैसे देती है।

तो दोस्तों ऊपर के Article में हमने Top Cloud Computing User के बारे में जाना था और अब हम जानेगे Cloud Computing के क्या फायदे ( Benefits ) है।

Cloud Computing के फायदे है ( Benefits Of Cloud Computing ):-

Benefits-Of-Cloud-Computing

Cloud Computing के Benefits की बात करे तो इसमें हमे सभी तरह से Benefits मिलते है क्योकि इस Technology में Data Save ,Data को Share करने का तरीका ही बदल दिया है आज हमे Data Store या Share करने की कोई भी झंझट लेने की जरुरत नहीं है।  

क्योकि हमारी सारी problem इस Data Saving और Sharing Technology से Slow कर दी है कहने का मतलब है की Cloud Computing technology ने आज हमारी Data से Related सारी problem को Slow कर दिया है। और अब निचे के Article में हम आपको Top 5 Cloud Computing Benefits को बतायेगे जो आपकी Office या workplace की Lifestyle Change कर देगा।  

1. Self-Service Provisioning 

इस Technology का सबसे बढ़िया और सबसे ज्यादा काम का फायदा यही है की इसमें अब आपको Data Manegment की कोई problem नहीं है। क्योकि Cloud Computing Technology के आने से पहले बहुत से लोगो Data Management और Store करने की problem Face करते थे जिससे वो अपने Computer को अपने जरुरत के हिसाब से Data Store करने के लिए बार बार किसी Shop में ले जाते थे। और अपने बहुत ही useful Data की 2 से 3 Copy उनको अलग अलग drive या Computer के Storage में रखनी पड़ती थी। 

लेकिन इस Technology ने वो पुराने झंझट सारे  बदल दिया अब User Self  Dependent हो गए है अब उनको किसी डाटा की बार बार Copy करने की कोई जरुरत नहीं है वो अपना जरूरत का Data Cloud में Save कर देते है और फिर जब भी उनको वो Data चहिये तो वो उस डाटा को आसानी से Access कर सकते है। 

2. only Pay Per Use  

दोस्तों अगर इस Cloud technology के दूसरे Benefits की बात करे तो वो है Only Pay Per Use मतलब की पहले Data Store करने के लिए हमे बहुतसारे Drive खरीदने पड़ते थे जो बहुत ज्यादा costly होते थे और फिर ये कभी कभी खराब भी हो जाते थे। 

जिससे पहले तो बहुत ज्यादा पैसे तो लगते थे और उसके बाद जरुरत की Storage Space भी नहीं मिलती थी। लेकिन अब इस Cloud Technology के आने के बाद आपको केवल उन्ही storage Space के पैसे देने होंगे जिनको आप Use करते है और इस में Drive खराब या Damage होने की भी कोई problem नहीं है।

3. Elasticity 

इस Technology का Third benefit यह है की cloud Computing वाली Company अपने user के हिसाब से अपने Cloud Storage को बढ़ा सकती है। जिससे अगर किसी User को ज्यादा Storage चाहिए तो वो अपने User के Requirement के हिसाब से अपने Storage को बढ़ा लेती है। और अब वर्तमान में जैसे जैसे User को Cloud Computing के बारे में पता चल रहा है वैसे वैसे लोग अपने Locale infrastructure पर पैसे ना लगा कर Cloud Computing को इस्तेमाल कर रही है। 

जिससे Feature में लोगो को कम पैसो में Best Cloud Storage मिलेगा और company को user दिन प्रतिदिन बढ़ने से अच्छा मुनाफा होगा और वैसे देखा जाये तो ऐसा होने से Cloud Computing User और उसको चलाने वाली Company को दोनों को इस Cloud Storage Technology से काफी फायदा होने वाला है

4. Workload Resilience 

दोस्तों इस Technology से आप अब बिना रुके 24 घण्टे में अपने डाटा को Access और Store कर सकते है। क्योकि Cloud Computing वाली Company ऐसे System को Use करती है जो की इंसान नहीं है वो कोई ऐसे Robot यानि की ऐसे programing को इस्तेमाल करती है जिससे आप कभी भी अपने Data को  Cloud में Store या Access कर सकते है। 

5. Migration Flexibly 

दोस्तों Migration Flexibility से कोई Cloud Company या Organisation अपने Workload को किसी दूसरे Cloud Server या कहे तो Storage में Transfer कर सकता है वो भी बिना आपके impotent Data को नुकसान पहुचाये ये Process automatically होती है जिसमे आपका कोई भी पैसा नहीं लगता है। इस Process से पहले वाले Cloud Storage का Workload कम हो जाएगा और वो फिर से आपका Data access और Store करने के लिए तैयार हो जायेगा। 

Cloud Computing का इतिहास ( History Of Cloud Computing )

History-Of-Cloud-Computing

ऊपर के Article में हमने Cloud Computing के कुछ Benefits के बारे में जाना था और अब हम इसके इतिहास ( History ) के बारे में जानेगे। 

History guys अगर हम Cloud Computing के इतिहास या इसकी खोज की बात करे तो इसकी सबसे पहले 1960 में इसकी खोज हुई। जब Computer और नई नई Technology की खोज और Research का दौर चल रहा था Cloud Computing को Computer को एक बहतर बनाने और इसके Storage में Improvement करने के लिए किया गया था। 

लेकिन 1960 के दशक में Computer के ज्यादा उपयोग ना होने के कारण इस खोज को रोक दिया गया। क्योकि उस समय कुछ गिने चुने लोग ही कंप्यूटर जैसी Technology का इस्तेमाल करते थे। जिसके कारण इतने कम लोगे के लिए Cloud Computing को बनाना ठीक नहीं था। लेकिन फिर 1990 के दसक में Computer के User दिन प्रतिदिन बढ़ते गए और Computer जैसी Technology की मांग बोहोत ज्यादा बढ़ने लगी तब इस Cloud Computing Service को Market में लाया गया 

क्योकि बढ़ते Internet और Software के Use से Computer Lack करने लग गए थे तब इस समस्या का सबसे जरुरी समाधान Cloud Computing ही था जिससे User अपने मन पसंद डाटा को अपने Computer में रखने के बजाय  Cloud Storage में रखे। और फिर Internet से अपने डाटा को Access कर ले। 
इस Service को 1990 में Salesforce ने पहली बार दुनिया के सामने Commercially enterprise Saas के नाम से सफलता पूर्वक Implement किया गया। और उसके 12 दशक बाद 2002 में AWS ने सफलता पूर्वक implement किया जो की आज बहुत सी Service जैसे Computing ,online Storage ,और machine learning की सुविधाएं provide करवाती है। आज बहुत से छोटी बड़ी ऐसी Company है जो AWS के साथ मिलकर Cloud Base Service Provide करवाती है। जैसे Google Cloud platform ,Microsoft Azure आदि 

दोस्तों ऊपर के Article में हमने Cloud Computing के इतिहास के बारे में जाना था। और अब हम कुछ Main Difference जानेगे Cloud Computing और Distribute Computing के अंदर और इसके कितने Type होते है और साथ में उन Type के बारे में भी कुछ Short Details में जानेगे। 

Cloud Computing और Distribute Computing में अंतर ( Cloud Computing Vs Distributed Computing What Is the Difference ):-

1. Goals

अगर Distribute Computing की बात करे तो ये मुख्यतौर पर Collaborate Resource  Sharing provide करवाता है। यानि की एक User से दूसरे User के Connect में रहकर एक User का जाल बना लेता है जिससे डाटा एक से दूसरे को Provide करवाता है।  

Distribute Computing के अंदर Provider हमेसा ये चेष्टा करता है की वो administrative scalability (number of the domain in registration), size scalability (number of processes and users), और geographical scalability (maximum distance between the nodes in the distributed system) provide कर सके.

वही अगर हम दूसरी तरफ Cloud Computing की बात करे तो इसमें Provider on-demand environment  में service deliver Provide करने में ज्यादा Focus रखता है। जिससे अनुमानित Target Goal प्राप्त कर सके। और साथ ही में ज्यादा  scalability and transparency, security, monitoring, and management provide कर सके। 

2.Types Of Distribute Computing 

Distribute Computing को मुख्यतौर और पर 3 भागो में विभाजित किया गया है जो निचे हम points के माध्यम से आपको बताने की कोशिस कर रहे है। 

1. private Cloud 
इस तरह के Cloud में एक Organisation के सारे Computer और उसकी Application का डाटा और साथ ही उस Organisation का Data एक मुख्य Computer से जुड़ा होता है जिसे Head Computer और Main Computer कहते है 

इससे उस Organisation का सारा Data उस Main Computer में Save होता रहता है जिससे की Data चोरी या Data में फेर बदल करना मुश्किल होता है। ऐसे private Cloud का इस्तेमाल  मुख्यतौर पर बहुत बड़ी Organisation ,company ,या Banks अपने और अपने User के Sensitive Data को Hacker से Secure करने के लिए बनती है। 

2. Public Cloud 
इस तरह के Cloud को किसी दूसरे Service Provider के लिए बनाया जाता है जिसको बाद में Public के Use के लिए कर दिया जाता है। ऐसे Public Cloud में User public का कोई Control नहीं होता है और नाही वो इस तरह के Cloud के infrastructure को देख सकते है। उदाहरण के तौर पर Microsoft और Google ऐसे Cloud को host करते है और फिर उनको public कर देते है। 

3. Community Cloud
दोस्तों जैसा की आपको नाम से इस Cloud के बारे में पता चल रहा होगा ये एक multy Tenant Cloud होते है जो किसी एक Organisation में होता है लेकिन इसके Cloud को Multy Organisation use करती है। ऐसे Cloud को ज्यादातर कोई institute Collage या School के लिए Use किया जाता है। 

4. Hybrid Cloud
ऐसे Cloud मुख्यतौर पर बहुत सारे Public Private Cloud से मिलकर बना होता है। ऐसे Cloud में सभी public cloud private Cloud अपनी एक Single Entity में होते है। लेकिन सभी Combilne होकर Multiple Development module तैयार करते है। 

3 .Types Of Cloud Computing 

Cloud Computing को मुख्यतौर पर तीन भागों में विभाजित किया गया है जो हमने निचे आपको points के माध्यम से बताया है। 

1. Infrastructure as a service (IaaS)
इस तरह के Cloud Computing में Self Service module काम करता है जिसमे monitoring, accessing और infrastructure को manage करने के लिए remote location का इस्तेमाल किया जाता है। 

Example :- – Servers, Firewalls, Routers, CDN

2. Platform as a service (PaaS)
इसमें मुख्यतौर पर Centralised IT operations से Computing को Monitor करने के लिए software developers की एक self-service module काम करती है।
Examples – Email services: Gmail, Outlook.com
3. Software as a service (SaaS)
इस तरह के Computing module का इस्तेमाल किसी Application को Delever करने के लिए Web का इस्तेमाल किया जाता है। जो किसी अन्य Third party vendors के दुवारा monitor किया जाता है। और इसकी User infuriates केवल User की और से ही Access किया जा सकता है। 

Examples :- Google App Engine, SAP Hana, Cloud Foundry  

दोस्तों बढ़ती Technology ने आज कुछ ऐसे कारनामे करके दिखाए है जो इतिहास में करना या होना नामुमकिन था आज दिन प्रतिदिन नए नए आविष्कार होते जा रहे है और मानव के जीवन और उसके काम को और ज्यादा आसान बना रहे है।  आज Cloud Computing ने ना केवल Computer industries में उछाल लिया है बल्कि इस Technology ने mobile ,laptop , Tablet ,smart TV जैसे बहुत सारे Electronic Device में Storage और space की समस्या खतम कर दी है। 

तो दोस्तों में आशा करता हूँ की आपको हमारा Cloud Computing क्या है और इसके क्या फायदे है Full Information वाला Article अच्छा लगा होगा। इस Article में हमने आपको Cloud Computing के बारे में सभी जानकारियाँ Details में दे दी है। और अगर फिर भी कोई ऐसी जरुरी जानकारी छूट गई है जो बतानी जरुरी है और मेने इस Article में आपको नहीं बताया है तो Please Comment में हमे जरूर लिखे हम आपके topic पर एक दूसरा Article लिखने की कोशिस करेगे।