जीवन में कभी स्वयं को बुरा-भला मत बोलो motivational story

में अपनी Life से बहुत परेशान था और हर रोज खुद को और अपनी life /जीवन को कोसता रहता की जीवन ने मुझे क्या दिया है और परिवार ने मुझे क्या दिया है। इससे अपने आपको में हमेशा नफरत की नजर से देखता हुआ अपने जीवन को बिता रहा था। पर एक दिन जब में रस्ते पर तम्बू लगाकर रह रहे कुछ नौवजवान युवक और युवतियों और बच्चो को देखा तो मेरे जीवन में एक ऐसा मोड़ आया जिसने मुझे कुछ ऐसा सीखा दिया की में जिंदगी भर भी कभी नहीं भूल पाया।

ये बात उस समय की है जब में अपने जीवन से परेशान व  निराश होकर रोजाना की तरह अपने काम पर जा रहा था। में हमेशा की तरह अपनी टूटी हुई साईकिल से अपने काम पर जा रहा था हर दिन की तरह आज भी में अमीर और धनी लोगो को कार में जाते हुए देखकर में अपने जीवन को बुरा भला बोल रहा था।

जीवन ने मुझे क्या दिया है इन लोगो को देखो कितने आमिर है ये कितने मजे से अपनी जिंदगी बिता रहे है और में देखो रोज इसी खटारा साईकिल को अपने साथ लिए फिरता हु इस जीवन में मुझे भी आमिर बनना है और बड़ी बड़ी कार में घूमना है पर में क्या करता मेरे परिवार की हालत देख कर में कोई कार में घूमने का केवल सपना ले सकता था।  




की तभी रस्ते में एक मोड़ पर मेने कुछ ऐसा देखा की में अपने जीवन के बारे में जो कुछ भी बुरा-भला बोल रहा था उसको भूल कर उन तम्बू में बैठे लोगो को देखता रहा जो अपने जीवन से सभी तरह से खुश थे उनके पास ऐसी कोई भी चीज नहीं थी की वो दुनिया को बता सके की हम इस वस्तु से खुश है उनके पास केवल रात का रुखा सूखा भोजन और पहनने को एक जोड़ी फटे कपडे थे ।

पर फिर भी वो अपने जीवन से इतने खुश थे की मानो पुरे संसार की खुशियाँ उनको उपहार में मिल गई हो ये सब देख कर में एक बार तो अपने अंदर ही अंदर गहरी सोच में खो गया और इस बात के बारे में सोचने लगा की इन लोगो के पास ऐसा क्या है जो वो इस तम्बू में रहते हुए भी इतने खुश है और मेरे पास तो इनसे कई ज्यादा सुख सुविधा है फिर भी में जब देखो अपने आपको बुरा भला बोलता रहता हु इन सभी के बारे में आधा घंटा सोचने के बाद मुझे पता चला की संसार में हम चाहे कितने भी धनी क्यों न हो अगर हम अपने मन को शांत नहि कर पाए तो हमारे पास कितना भी पैसा और शौरत हो हम कभी भी खुश नहीं रह पाएंगे।  




उस दिन मेरी जिंदगी में एक ऐसा भूचाल आया की मुझे अपने आपको या अपने जीवन को बुरा भला कहना बहुत गलत लगा। इस सारे घटना ने आज मुझे अपने जीवन को कोषने के बजाय ये बात सीखा दी की जीवन हमे धोखा नहीं देता  है हम स्वयं खुद को धोखा देते है। 

तो दोस्तों आज का हमारा ये motivational story आपको कैसा लगा हमे कमैंट कर के जरूर बताये और अगर आप हमारे ब्लॉग Nuswami  Technical  से जुड़ना चाहते है तो आप इस >>Subscribe<< पर click कर के हम से जुड़ सकते है 

धन्यवाद !.....